चीन से भारत में आने वाली कंपनियों को 4.61 लाख हैक्टेयर जमीन दी जाएगी

कोरोना वायरस के कारण एक अच्छी खबर यह आ रही है किसी चीज से लगभग 300 कंपनियां भारत में शिफ्ट होने जा रही हैं। जिनके लिए लगभग 400061 हैक्टेयर जमीन की जरूरत पड़ेगी। जिसमें से सरकार के पास इंडस्ट्रियल एरिया में लगभग 1.16 लाख हैक्टेयर जमीन वर्तमान में शेष है। यानी बाकी जमीन किसानों से अधिग्रहण करनी होगी ।
पहले ही भारत के पास कृषि के लिए पर्याप्त जमीन नहीं है उस पर भारतीय कृषि जगत के लिए यह अच्छी ख़बर नहीं है। कृषि योग्य भूमि तो किसी भी कीमत पर अधिग्रहण नहीं करना चाहिए। सरकार को यह नहीं भूलना चाहिए कि करोना महामारी के समय में किसानों की वजह से देश के लोगों को फ्री में राशन मिला उनकी भूख को मिटाया।
सरकार को चाहिए कि देश के विभिन्न हिस्सों में बहुत सारी इंडस्ट्रीज बंद हो चुकी है उनकी भूमि को वापस लेना चाहिए ताकि बेकार पड़ी इस इंडस्ट्रियल ज़मीन काम आ सके। कहीं सरकार फिर कोई भूमि अधिग्रहण बिल लाकर किसानों की जमीन न छीनले लोगों को चाहिए कि इसका विरोध अभी से करना चाहिए ताकि ऐसा ना हो सके।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here