कोरोना वायरस से इज़रायल में हालात बेकाबू, फिर से लगा लॉकडाउन

इज़रायल

इज़रायल में बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए फिर से लॉकडाउन

इंटरनेशनल डेस्क: कोरोनावायरस के संक्रमण को देखते हुए इज़रायल में इस शुक्रवार से दूसरा लॉकडाउन शुरू हो जायेगा। इज़रायल में बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए फिर से लॉकडाउन लगाया जायेगा यह लॉकडाउन तीन सप्ताह के लिए लगाया जा रहा है। इस लॉकडाउन में यहूदी नव वर्ष से सख्त नियम लागू होंगे।

इज़रायल के प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने आदिकारिक पुष्टि करते हुए कहा कि “हमें भारी क़ीमत चुकानी होगी”, Worldometer के ताज़ा आंकड़ों के अनुसार इज़रायल में बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 4429 मामले आ चुके हैं। जिसमें से अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक इज़रायल में अब तक कोरोना वायरस के कुल 155,604 मामले सामने आ चुके हैं।

आपको बता दें की दुनियाभर में त्योहारों का समय आने वाला है jahan भारत में नवरात्री, दशहरा, दिवाली जैसे त्यौहार हैं वहीं अहम यहूदी के भी त्यौहार आ आने वाले हैं ऐसे वक़्त में लॉकडाउन लगने से बहुत लोगों ने विरोध भी किया। जिसके चलते एक मंत्री समर्थन वापस लेते हुए इस्तीफा तक दे दिया।

इस खबर को भी पढ़ें: Global Times, मोदी सरकार को लेकर चीन में हुआ सर्वे

इज़रायल की कुल आबादी लगभग 90 लाख है और उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए फिर से लॉकडाउन लगाया जा रहा है।

क्या कहा इज़रायल के प्रधानमंत्री ने

बीते रविवार को इज़रायल के प्रधानमंत्री ने एक टीवी चैनल का संबोधन करते हुए कहा है की देश में पहला लॉक डाउन मार्च में लगाया गया था। लेकिन अब फिर से कोरोना संक्रमण के 4000 से ज़यादा मामले प्रतिदिन सामने आ रहे हैं। इसी वजह से दोबारा लॉकडाउन लगाना पड़ेगा ऐसा ग़ौरतलब है कि दूसरा लॉकडाउन इसराइल के लिए बहुत महंगा साबित हो सकता है।

दुसरे लॉकडाउन के नियम –

  • स्कूल, कॉलेज, मॉल आदि सब बंद रहेंगे।
  • लोगों को अपने घरों के 500 मीटर के दायरे में ही रहना होगा।
  • विशेष प्रावधान के तहत काम पर जाने वालों को विशेष छूट दी जा सकती है।
  • निजी संस्थानों और इंडस्ट्री को छूट मिल सकती है।
  • इमरजेंसी कि सभी चीजें खुली रहेंगी जैसे मेडिकल स्टोर, हॉस्पिटल, दूध, इत्यादि।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार के लॉकडाउन का असर सीधे तौर पर त्योहारों पर पड़ने वाला है। यहूदी समुदाय के लोगों को इस बार खासा परेशानी होगी क्योंकि इस बार के त्यौहार वे अपने रिश्तेदारों के साथ न मना पाएं। उन्होंने कहा कि इज़रायल की जनता की सुरक्षा के लिहाज़ से यह लॉकडाउन अत्यंत जरूरी है।

 

ताज़ातरीन खबरों के लिए क्लिक करें watchheadline पर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here