कैलाश मानसरोवर की यात्रा अब होगी मात्र 1 दिन में

नई दिल्ली: भारत नेपाल सीमा पर जो सड़क निर्माण चल रहा था वह पूरा हो चुका है। जिसके बाद से वहां के स्थानीय निवासियों में अलग ही खुशी का माहौल है। इस सड़क निर्माण के बाद सेना को भी बॉर्डर पर आने जाने की आसानी हो गई है और बॉर्डर से लगे हुए गांव में रहने वाले लोगों को भी इसका फायदा पहुंचा है।
20 मई को हम अपने पोर्टल में पहले ही बता चुके हैं कि इस सड़क निर्माण को लेकर भारत नेपाल में सीमा काफी विवाद चल रहा है। जिसकी वजह से भारत ने लिपुलेख और कालापानी क्षेत्रों में अपनी सेना भी लगा दी है।
उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के धारचूला से लिपुलेख तक भारत ने लगभग 80 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण किया है। जिससे भारत से हर साल होने वाली कैलाश मानसरोवर की यात्रा जोकि पहले 21 दिन में पूरी होती थी, वह अब मात्र एक दिन में पूरी हो जाएगीl स्थानीय लोगों में इसको लेकर काफी उत्साह और खुशी क्योंकि इससे उनके व्यापार पर बहुत अच्छा असर पड़ेगा।
इस सड़क का शुभारंभ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कुछ दिन पहले ही किया थाl लेकिन वहीं दूसरी ओर नेपाल, लिपुलेख और कालापानी पर अपने अधिकार की बात कर रहा हैl क्योंकि 1816 की सुगौली संधि के दौरान काली नदी को ही सीमा रेखा मान लिया गया थाl

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here