द हिन्दू का दावा लद्दाख में 10 पेट्रोलिंग पॉइंट्स पर चीन का कब्ज़ा

नरेंद्र मोदी
file photo

जाने 10 पेट्रोलिंग पॉइंट्स पर जिन पर है चीन का कब्ज़ा

नई दिल्ली: द हिंदू अख़बार की ख़बर के मुताबिक पूर्वी लद्दाख के 10 पेट्रोलिंग पॉइंट्स पर अप्रैल से चीनी सैनिकों का कब्ज़ा है। इन दस पॉइंट्स पर चीनी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों को आने से रोका हुआ है।

एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी के बयान के आधार पर अख़बार ने ये दावा किया है कि ये 10 पेट्रोलिंग पॉइंट्स उत्तरी डेपसांग मैदान से दक्षिण की पैंगॉन्ग त्सो झील तक में आते हैं। ये पेट्रोलिंग पॉइंट्स वहां पर हैं जहाँ से अपरिभाषित एलएसी की सीमा ख़त्म होती है। अप्रैल से पहले इन 10 पॉइंट्स पर भारतीय सैनिक अपने बैस कैंप से गश्त लगाया करते थे।

इस ख़बर को भी पढ़ें:

सैन्य अधिकारी ने अख़बार को यह जानकारी दी है कि भारतीय सेना अप्रैल से 9, 10, 11, 12, 12A, 13, 14, 15, 17 और 17A पेट्रोलिंग पॉइंट्स पर गश्त नहीं लगा पा रही है। अधिकारी ने कहा कि, ‘क्योंकि यह सारा इलाका अपरिभाषित है तो इसलिए दावा करने का सबसे अच्छा तरीका है कि उस इलाक़े किसी भी तरीके से जम जाना। इन्ही सब विवादों के चलते पिछले कुछ महीनों में दोनों देशों की सीमा पर तनाव बना हुआ है और दोनों देशों के बीच बफ़र ज़ोन बनाए गए। इसके बावज़ूद इन अपरिभाषित जगहों पर चीनी सैनिकों ने क़ब्ज़ा कर लिया।

भारतीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बीते गुरुवार को राज्यसभा में इस विवाद पर कहा था कि पेट्रोलिंग पॉइंट्स को लेकर हुई छेड़छाड़ की वजह से चीनी सैनिकों और भारतीय सैनिकों के बीच झड़प हुई। रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि क्योंकि दोनों देशों की सीमा का बहुत बड़ा हिस्सा अपरिभाषित है और बीते कुछ दिनों में कई जगहों पर चीनी सैनिकों ने एलएसी का अतिक्रमण किया था। राजनाथ सिंह ने कड़ा रूख करते हुए कहा था कि दुनिया की कोई भी ताकत भारतीय सेना को गश्त करने से रोक नहीं सकती और देशहित की ख़ातिर हमें कितना भी बड़ा कदम क्यों न उठाना पड़े, भारत पीछे नहीं रहेगा।

 

ताज़ातरीन ख़बरों के लिए क्लिक करें Watchheadline पर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here