प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग होंगे आमने-सामने

नरेंद्र मोदी
file photo

पूर्वी लद्दाख में हुई हिंसक झड़प के बाद से भारत और चीन के बीच तनाव की स्थिति बरक़रार है। गौरतलब है कि दोनों देशों के बीच चल रहे तनाव के बाद पहली बार भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग आमने-सामने होने जा रहे हैं।

नई दिल्ली: इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के अनुसार, 17 नवंबर को होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेंस में नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग दोनों शामिल होने जा रहे हैं। आपको बता दें कोरोना वायरस के चलते 12वां ब्रिक्स (Bricks) सम्मेलन इस बार वर्चुअली किया जा रहा है इसकी आधिकारिक पुष्टि करते हुए रूस ने सोमवार को ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्ऱीका को इसकी जानकारी दी।

इस ख़बर को भी पढ़ें: पैंगोंग त्सो, डेमोकोक और गैलवान घाटी को लेकर भारत-चीन के बीच तनाव के हालात

15 जून को भारत चीन सीमा पर जो ख़ूनी हिंसक झड़प हुई थी उसके बाद से नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग न तो कोई बातचीत की है और न ही एक दुसरे के सामने आये हैं। इससे पहले नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग 26 मार्च को तब आमने सामने आये थे जब सऊदी अरब ने G-20 देशों की वर्चुअल बैठक की थी। कोरोना वायरस को लेकर हुई इस वर्चुअल बैठक में सभी देशों ने महामारी से निपटने के लिए चर्चा की थी।

 

अख़बार ने सूत्रों के हवाले से जानकारी देते हुए लिखा है कि इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि दोनों के बीच बातचीत न हो। नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग के पास फिर से G-20 में मंच सांझा करने का अवसर होगा क्योंकि हर साल ब्रिक्स सम्मेलन के बाद चार दिन का G-20 सम्मेलन भी होता है। ऐसा कयास लगाया जा रहा है कि इस बार ये सम्मेलन 21-22 नवंबर को होना है और दोनों इस सम्मलेन में हिस्सा ले सकते हैं।

 

ताज़ातरीन ख़बरों के लिए क्लिक करें Watchheadline पर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here